ठुकरा दे कैसे तुम्हे कैसे ए दोस्त सबक तो तुझ से ही हमने जिदगी मे सीखा है !

ठुकरा दे कैसे तुम्हे कैसे ए दोस्त सबक तो तुझ से ही हमने जिदगी मे सीखा है !

0 comments: