लूट गये है लोग ज़माने में जो अमीर होने की बात करते थे,क़तरा क़तरा ख़ून गिर रहा है उनका ज़मीन प जो आसमान को अपना बनाने की बात करते थे ।

लूट गये है लोग ज़माने में जो अमीर होने की बात करते थे,क़तरा क़तरा ख़ून गिर रहा है उनका ज़मीन प जो आसमान को अपना बनाने की बात करते थे ।

0 comments: