नज़र उन पर है मगर उन्हें मेरी ख़बर तक नहीं,वो कर रहे है मैयखाने में शायरी ऐसा लगता है उन्हें मोहब्बत में सबर ही नहीं ।

नज़र उन पर है मगर उन्हें मेरी ख़बर तक नहीं,वो कर रहे है मैयखाने में शायरी ऐसा लगता है उन्हें मोहब्बत में सबर ही नहीं ।

0 comments: