तेरी नज़र प मेरी भी नज़र होती है,बेख़बर तो सारा ज़माना है जिसकी ख़बर भी सिर्फ़ मुझको होती है ।

तेरी नज़र प मेरी भी नज़र होती है,बेख़बर तो सारा ज़माना है जिसकी ख़बर भी सिर्फ़ मुझको होती है ।

0 comments: