उड़ती हुई ख्वाहिशों को तलाश ज़मीं की. कुछ पल के सुकूं को तलाश फिर जुनूं की....

उड़ती हुई ख्वाहिशों को तलाश ज़मीं की. कुछ पल के सुकूं को तलाश फिर जुनूं की....

0 comments: