मैंने कभी तरीक़ा नही बदला कहने का , बस तमाशे का जवाब , ताज्जुब कह कर दिया है !

मैंने कभी तरीक़ा नही बदला कहने का , बस तमाशे का जवाब , ताज्जुब कह कर दिया है !

0 comments: