घड़ी की सुयी की तरह गुज़र रही है ज़िंदगी जाने कौन सा वक़्त ज़िंदगी में तूफ़ान लाएगा,देखते रह जाएँगे वक़्त के फ़साने को और कोई ज़मीन छीन ले जाएगा

घड़ी की सुयी की तरह गुज़र रही है ज़िंदगी जाने कौन सा वक़्त ज़िंदगी में तूफ़ान लाएगा,देखते रह जाएँगे वक़्त के फ़साने को और कोई ज़मीन छीन ले जाएगा

0 comments: