गुज़र जाता है वक़्त और हम तस्वीरों को रह जाते है, कैसे बनाया था ज़िंदगी का आशियाना हम परिंदों को देखकर सोचते रह जाते है ।

गुज़र जाता है वक़्त और हम तस्वीरों को रह जाते है, कैसे बनाया था ज़िंदगी का आशियाना हम परिंदों को देखकर सोचते रह जाते है ।

0 comments: